Woman in the modern era..

Woman- God’s most beautiful creation (of course after this nature) . a woman or a girl plays many roles during her entire life which are totally different from each other and demands different responsibilities as well. But the question is, are we getting forgetful about what’s our true essence and value in this modern era?

Read More

इस गुस्से ने मुझे तबाह कर दिया..

छोटी बात थी बस बड़ी बन गई,
ज्यादा नहीं पर गलती हो गलती हो गई,
कोशिस की थी मेने रोकने की,
सोचा था मेने की अपने गुस्से को क़ाबू कर लूंगा,
लेकिन आज फिर न कर सका इसे , गुस्से ने मुझसे सब छीन लिया |

Read More

वो बचपन ही अच्छा था..

वो बचपन ही अच्छा था..
जिसमे छोटी ख़ुशी भी बड़ी बात बन जाती थी,
बचपन की हसी भी किसी किसी के लिए दिन भर की थकान की दवा बन जाती थी.
सपने देखते थे सब बचपन मे लेकिन उन सपनो को खो देने का डर नहीं होता था,
सच्च मे वो बचपन ही अच्छा था|

Read More

आज से देश स्वच्छ करते है|

हर दिन कुछ खास होता है हम मानते हेना ,
लेकिन इसे कुछ और खास बनाना हमारा काम है, हम क्यों नहीं मानते ? अपनी चीज़े तो हम सब को अच्छी लगती है उसकी देखभाल भी हम अच्छे से करते है
तो हमारी आस पास की जगह इतनी सुरक्षित क्यों नहीं है ? क्या वो हमारी नहीं है , या वो हमारे लिए नहीं है|

Read More