हर दिन कुछ खास होता है हम मानते हेना ,
लेकिन इसे कुछ और खास बनाना हमारा काम है|
हम क्यों नहीं मानते ? अपनी चीज़े तो हम सब को अच्छी लगती है उसकी देखभाल भी हम अच्छे से करते है
तो हमारी आस पास की जगह इतनी सुरक्षित क्यों नहीं है ?
क्या वो हमारी नहीं है , या वो हमारे लिए नहीं है|

हमे साफ़ सुथरी जगह चाइये लेकिन साफ करे कौन, ये हमारा काम थोड़ी न है| लोगो को थूखने से मना करने वाले अक्सर किसी जगह पर थूक कर चले जाते है| कचरा फैलाना सही नहीं था पर गलती से फेक दिया ऐसे कारन बताने के कारन हमारे पास मौजूद है|
सही सड़क भी चाइय हमें, लेकिन वाहन धीरे चलाये कोन ?
मैं देश का जिम्मेदार नागरिक हु लेकिन मेरे अकेले के सफाई रखने से देश साफ कैसे होगा तो मैं अकेला साफ क्यों रखूँ|जो होगा देख लेंगे सब साफ रखेंगे तभी हम रखेंगे|आंखिर क्यों हम कदम नहीं उठाते..
क्यों हम पीछे हाथ जाते अकेले होने पर| स्वच्छ भारत चाइये ना हमे, तो क्यों हम स्वच्छ नहीं रखते|

Swachh Bharat, Swasth Bharat!

क्यों किसी रेलवे की पटरी पर खचरा फेक देते है ? किसी दिवार पर क्यों थूक देते है ?क्यों अपने घर के कचरे को घर के बाहर नाली में फेक देते है ? हमारा देश है ये हमारा घर है ये ..तो आखिर क्यों हम इसे अपना नहीं समझते क्यों इसे गन्दा करते है?
हां मानता हु हम अकेले पड़ जाते हैं, कभी कभी लोगो के ताने भी भारी पढ़ जाते है|
जब कहते है लोग की “बड़ा आया सफाई रखने वाला तेरे सफाई रखने से कोनसा देश साफ हो जायेगा” हार मान जाते है हम|करे भी क्या डर जो लगता है अकेला होने का|
लेकिन ये प्यारी जगह जहाँ हमारा जन्म हुआ इसे प्यारा रखना हमारा ही काम हेना|ये गलिया जहाँ हमारा बचपन गुजरा उसे साफ़ रखना भी तो हमारा फर्ज हेना|जहाँ सीखा है हमने ,उस जगह को कोहिनूर भी तो बनाना है हमे|कहते है भारत स्वच्छ था तब कोहिनूर हमारा था |क्यों न हम देश को फिर स्वच्छ कर दे, क्या पता शायद चिड़िया फिर अपने सोने के पिंजरे में आ जाये,क्या पता हमारा देश कोहिनूर बन जाये|चलो एक पहल करते है आज से देश स्वच्छ करते है|

Thanks for your time.
To read articles like this follow our blog Active-Artists.
JAI HIND! JAI BHARAT!

Sumer Chhajer

Get in touch for beautiful content and Poetries.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.