जिम्मेदार बच्चों के बदलते व्यवहार..

आज हर माता पिता अपने बच्चों को उच्च शिक्षा प्रणलि वाले स्कूलो मे भेज रहे है।बात सही है कि आज के प्रतियोगी दौर में भेजना भी चाहिये मगर सिर्फ प्रतियोगिताये ही जीवन का मकसद है क्या? मोटी सेलेरी ,अन्धाधुन्ध भीड़ मे थकी मंदी जिंदगी जीना,समय की कनजुसियत और पैसो की अय्याशी यही ज़िन्दगी हम देना…

Read More

एक महिला के लिए उसका सबसे मूल्यवान आभूषण क्या है?

मेरे अनुसार एक महिला के लिए सबसे मूल्यवान आभूषण है उसकी “मुस्कान” ! भले ही कोई महिला बहुमूल्य गहने अथवा कपडे पहन ले पर जब तक उसके चेहरे पर मुस्कराहट नहीं होगी कुछ अधूरा सा लगेगा | अगर कोई स्त्री सामान्य-रूप में हो लेकिन वो मुस्कुरा रही है तो वो बहुत ही आकर्षक होगा क्योकि…

Read More

भारत में नारीवाद की आवश्यकता क्यों है?

यह सवाल बहुत से लोगो को चिडाता होगा की यह क्या नारीवाद नारीवाद लगा रखा है !सच बताऊ तो मैं भी कुछ समय पूर्व इन्ही लोगो में से एक था। पर धीरे धीरे मेने जब जाना की यहाँ नारी की वास्त्विक स्थिति क्या हैं तो मुझे कुछ यो लगा की भारत तो छोड़ो मेरे अपने…

Read More