कशमकश ज़िन्दगी की

Hindi Poems on active-artists.com कुछ गलतफहमियां, कुछ नादानियां, अनकही कुछ मनगढ़ंत कहानियां, कुछ बेपरवाइयां ,कुछ लापरवाहीयां , कुछ उलझी हुई रुसवाईयां। इन सब को हम ने ही तो जगह दी। दिल दुखाने की एक नई वजह ली। गलती ना तुम्हारी थी ना हमारी, बस कुछ हालात थे और कुछ हकीकत। प्रॉब्लमस हमारी, इश्यूज हमारे, ना…

Read More

शाकाहारी बनो…!

गर्व से कह सकती हूँ मैं भीमैं एक शाकाहारी हूँ। नहीं काट खाती उन जिव को,नहीं मारती बेबस प्राणी को। ‘मैं इंसान हूँ, तू जानवर,तुझको मरना ही पडे़गा। मेरी भूख मिटाने के लिए,तुझको कटना ही पडे़गा।’ यही आज कि दुनिया है।भूल गए हैं यह लोग, कि जान उस में भी उतनी है,जितनी एक इंसान में।…

Read More

ये कहानी है  मेरे शहर की …

ये कहानी है मेरे शहर की … मेरे इंदौर की। इसकी उम्र भले ही जयादा हो पर ये अब भी जवान हैं। ये अब भी मेहनत करता हैं खुद को हमेशा की तरह रखने में ये मेहनत करता हैं सबसे आगे रहने के लिए। मेरे शहर से मुझे बहुत कुछ सिखने को मिलता हैं। मेरा…

Read More

इस गुस्से ने मुझे तबाह कर दिया..

छोटी बात थी बस बड़ी बन गई,
ज्यादा नहीं पर गलती हो गलती हो गई,
कोशिस की थी मेने रोकने की,
सोचा था मेने की अपने गुस्से को क़ाबू कर लूंगा,
लेकिन आज फिर न कर सका इसे , गुस्से ने मुझसे सब छीन लिया |

Read More