Create Yourself…

Create Yourself The Perfect epitome of perfect life as it leaves you under all circumstance and enables you to build your own worth. Get yourself intuition a sense of creation with this spectacular sketch. Active-artists.com is an admiring platform for all emerging writers to get themselves featured. Follow us and get daily such poems and more.…

Read More

सुना है शाम आई है..

सुना है शाम आई है सुना है शाम आई है शमा की याद लाई है हां मैं लौट आऊंगी कसम उसने उठाई है कहा बरसात लाएगी मेरे संग भीग जाएगी न तो स्वयं ही आई न बरसात आई है परिंदे लौट आये है बढ़ रहे शाम के साये द्वार भी खोल आये हम काश इस…

Read More

वो मां ही है…

वो मां ही है वो है तो ज़िन्दगी में खुशियां ही खुशियां है, वो है तो हर जगह उम्मीदों की नई बगिया है। कभी कभी सोचता है ये मन, क्या रहा होगा उसका बचपन? उसकी खववहिशे? उसका मन ? वो भी कभी मासूम हुआ करती होगी , काम को देख कर वो भी जी चुराया…

Read More