स्त्री : जीवन प्रबंधक..

स्त्री : जीवन प्रबंधक..स्त्री; यह शब्द अपने आप मे ही एक पूरी दुनिया है, क्योंकि सारी दुनिया को इसिने संभाल के रखा है। इस मतलब भरी दुनिया में एक ही तो एक ऐसी व्यक्ति है जो बिना मतलब के हमारा साथ देती है।

Read More

इस गुस्से ने मुझे तबाह कर दिया..

छोटी बात थी बस बड़ी बन गई,
ज्यादा नहीं पर गलती हो गलती हो गई,
कोशिस की थी मेने रोकने की,
सोचा था मेने की अपने गुस्से को क़ाबू कर लूंगा,
लेकिन आज फिर न कर सका इसे , गुस्से ने मुझसे सब छीन लिया |

Read More

वो बचपन ही अच्छा था..

वो बचपन ही अच्छा था..
जिसमे छोटी ख़ुशी भी बड़ी बात बन जाती थी,
बचपन की हसी भी किसी किसी के लिए दिन भर की थकान की दवा बन जाती थी.
सपने देखते थे सब बचपन मे लेकिन उन सपनो को खो देने का डर नहीं होता था,
सच्च मे वो बचपन ही अच्छा था|

Read More

Know: How To Abolish Child Abuse..

Child abuse, the word itself is enough to give chills to your spine, right? We can’t even imagine putting these two words together, then why such horrendous activities are still prevailing in our, as well as in other countries? A country’s future lies in its upcoming generation. but if, our children aren’t safe and secure…

Read More

Transparent Relations..

It is not about how you maintain your relationships but it is about how well you treat your loved ones. Sometimes your unnoticed things may leave a void in someone’s heart. You have to make sure that you remain loyal and transparent to your partner or mate. Because this transparency enables your mate to sustain…

Read More