है जिंदगी..

किस मोड़ पर ला खड़ा किया है जिंदगी। आने वाले बेहतर कल के लिए , हमसे हमारा आज ही छिन लिया है जिंदगी। अब तुजसे एक ही सिफारिश है, अगर हार भी जाऊ , जिंदगी के इन इम्तहानों मे।। तो मुझे हारने न देना.. एक उम्मीद दिखा कर फिर खड़ा कर देना | वो संघर्ष…

Read More

वो दोस्त..

वो दोस्त,अजब अंदाज अजब सादगी से वो नेकी भी बड़ी खामोशी से करता है मैं उसका दोस्त हु अच्छा ,यही नही काफी उम्मीद ओर भी कुछ दोस्ती से करता है|| जवाब देने को ‘जी’ चाहता नही उसको वो मजाक भी बड़ी अजिज़ी से करता है|| नई नही है ये उसकी आदत पुरानी है शिकायते हो…

Read More

ढुंढता हूं •••••••

आज मन तन्हा है, ढूंढ रहा न जाने किसको भीड़ भरी दुनिया में ,साथ पाया न किसी का उम्र भर का साथ ,बस खोखला ही रह गया तन भर का साथ मन तो अकेला रह गया आज शाखा बड़ी हुई तो पेड़ पीछे छूट गया फूल कोई ले गया, पेड़ अकेला रह गया चाह कर…

Read More