Thank You Dear Sweepers..

Thank You Dear Sweepers For keeping country neat and clean You always wake up early in the morning, Just with an idea of sweeping the roads, It is worth admiring.. Thank You Dear Sweepers, For extending your hands towards nation’s growth, You didn’t get ashamed of getting into dirty canals, It is worth applauding.. Thank…

Read More

वो दोस्त..

वो दोस्त,अजब अंदाज अजब सादगी से वो नेकी भी बड़ी खामोशी से करता है मैं उसका दोस्त हु अच्छा ,यही नही काफी उम्मीद ओर भी कुछ दोस्ती से करता है|| जवाब देने को ‘जी’ चाहता नही उसको वो मजाक भी बड़ी अजिज़ी से करता है|| नई नही है ये उसकी आदत पुरानी है शिकायते हो…

Read More

ढुंढता हूं •••••••

आज मन तन्हा है, ढूंढ रहा न जाने किसको भीड़ भरी दुनिया में ,साथ पाया न किसी का उम्र भर का साथ ,बस खोखला ही रह गया तन भर का साथ मन तो अकेला रह गया आज शाखा बड़ी हुई तो पेड़ पीछे छूट गया फूल कोई ले गया, पेड़ अकेला रह गया चाह कर…

Read More

काश! मैं जो ‘थी’ वही आज भी होती।

मेरी तन्हाईयो से अकसर ये बात है होती काश किसी पल में अपने साथ में होती घिरी रहती हूँ ढेरो उलझनो में और सवालो में काश! मैं जो ‘थी’ वही आज भी होती। नहीं किसी से गिला और शिकवा साथ में होता न किसीको मुझसे कोई शिकायते होती “पलछिन” सा मन ये उडता रहता बादलों…

Read More