मैं तुम्हें आजादी दूंगा ।

मैं तुम्हें आजादी दूंगा । क़दम-क़दम बढ़ाये जा खुशी के गीत गाये जा यह ज़िन्दगी है कौम की तू कौम पर लुटाये जा क़दम-क़दम बढ़ाये जा… तू शेर-ए-हिंद आगे बढ़ मरने से कभी न डर उड़ाके दुश्मनों के सर जोश-ए-वतन बढ़ाये जा क़दम-क़दम बढ़ाये जा… हिम्मत तेरी बढ़ी रहे ख़ुदा तेरी सुनता रहे जो सामने…

Read More