Upbringing..

A mother always cares her child despite all odds that she comes across. Get an insight of lovely upbringing with an incredible sketch by amazing artist. Active artists is an admiring platform for all emerging writers to get themselves featured who have sense of care towards improving the society in more better way. Follow us…

Read More

छू लेने दो नाज़ुक होंठो को ..

छू लेने दो नाज़ुक होंठो को एक पुराना क़िस्सा, बहुत पुराना क़िस्सा जो भी कभी कभी मेरे ज़हन में आ जाता है में उसे याद करता हूँ तो उस क़िस्से के बारे मुझे जो कुछ भी याद मेरे सामने उसकी तस्वीरें बन जाती है.. तो बात है बहुत पुरानी जब मैं यही कही 7-8 साल…

Read More

यादों का जाला..

कई दिनों से अनछूए मेरे दिल के किसी कोने में यादों का जाला सा लगा है। उसे हटाने के कई प्रयास किए मैंने, लेकिन कुछ ज़िद्दी सा मालूम पड़ता हैं|साफ़ हो ही नहीं रहा है। पहली दफे उसकी बर्थडे पार्टी में हम मिले। साँवला सा दमकता हुआ चेहरा, लाल रंग का वन पीस और कुछ…

Read More

रेत सी फिसलती जिंदगी..

रेत सी है यह ज़िन्दगी भी… दिन बीतते चले जाते है, हम महीनो पर पहुँच रहे होते है की साल बदल जाता है। बार बार मुट्ठी बंद करते है कि कुछ रह जाए हमारे पास पर सब रेत सा धीरे धीरे रिसता चला जाता है। कुछ तो रह जाए, हम हाथ खोलते है और हाथो में…

Read More

अपने सपने, सपने बच्चों के..

हाल ही कुछ फिल्में बनी जो बच्चों के सपनो के आधार पृष्ठ पर थी। जिनमे एक ओर बच्चों को सपने देखने और पूरे करने की आज़ादी देना चाहिये पर ज़ोर दिया गया वही एक ओर माता पिता के सपनो को पूरा करने की जिम्मेदारी बच्चों की। शायद ये सवाल हर बच्चे और माता पिता के…

Read More